Lucknow News

Lucknow News : अवैध निर्माण पर चलेगा बाबा का बुलडोजर, खाली कराई गई पूरी बिल्डिंग

Lucknow News: एलडीए (LDA) ने ऐलान कर दिया है कि यजदान बिल्डर्स की बिल्डिंग को ध्वस्त किया जाएगा. बिल्डिंग तय मानकों के उल्लंघन करके बनाई गई है.

Bulldozer Action In Lucknow: लखनऊ विकास प्रधिकरण (LDA) और बिल्डर्स की मिलीभगत के कई मामले सामने आ चुके हैं. राजधानी लखनऊ में मानकों के विपरीत बनी यजदान बिल्डर्स की बिल्डिंग को ध्वस्त किया जाएगा. करोड़ों रुपये की लागत से बनी इस बिल्डिंग को गिराया जाएगा. उससे पहले तैयारी की जा रही है. हजरतगंज में पराग नारायण रोड पर स्थित है बिल्डिंग के ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया चालू कर दी गई है. बिल्डर का कहना है जब उसने लिया था जमीन तब ही ये नजूल की थी वो उसे फ्री होल्ड कराने की कोशिश कर रहे थे.

 

यजदान की बिल्डिंग होगी ध्वस्त

बता दें कि उत्तर प्रदेश में लखनऊ के हजरतगंज स्थित यजदान बिल्डर्स की बिल्डिंग को ध्वस्त किया जाएगा. बिल्डिंग के मालिक यजदान और तमाम लोग जिन्हें मकान आवंटित हुए थे, बिल्डिंग के बाहर जुटना शुरू हो गए हैं. मालिक का कहना है कि 2016 में एलडीए ने इस बिल्डिंग को अप्रूव किया. यह बिल्डिंग रेरा से अप्रूव है. 36 लोगों ने अपनी रजिस्ट्री करा ली है. लोगों को बिजली का कनेक्शन भी मिल गया है. 6 साल से बिल्डिंग बन रही थी. तब अधिकारियों को इसके अवैध होने का याद नहीं आया, लेकिन अब एकाएक कल रात को पुलिस यहां पर पहुंचती है और यहां रह रहे 6 परिवारों को जबरदस्ती बाहर निकाल दिया जाता है. इस पूरी बिल्डिंग में कुल 48 फ्लैट मौजूद हैं.

फ्लैट मालिकों ने कही ये बात

तमाम फ्लैट मालिकों का कहना है कि 36 घरों को बर्बाद करने से अच्छा है कि सरकार उनको जहर देकर मार दे. आखिर उनकी गलती क्या है? उन्होंने जब फ्लैट खरीदा तो यह रेरा अप्रूव्ड था. एलडीए अप्रूव्ड था. रजिस्ट्री भी हो गई तो अब उनको घर से बाहर क्यों किया जा रहा है?

बिल्डिंग के मालिक ने लगाए ये आरोप

हालांकि, मालिक का कहना है जब इस बिल्डिंग का काम शुरू हुआ तब उन्हें पता था कि यह नजूल की जमीन है. जिसका 25 फीसदी शुल्क उन्होंने जमा कर दिया था. 2019 कोविद के बाद से नजूल विभाग में काम नहीं हो रहा है, जिससे वह लगातार चक्कर लगा रहे थे. समय भी मांगा था. वो पैसा जमा भी करना चाह रहे थे. लेकिन पैसा जमा नहीं किया गया और अब एकाएक बिल्डिंग के ध्वस्तीकरण का आदेश जारी कर दिया गया है.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker